Computer Kya hai (क्या है)? यह कितने प्रकार के होते है?

Computer Kya hai (क्या है)? यह कितने प्रकार के होते है?

आज कल कोई ऐसा काम नहीं है जिसे कंप्यूटर पर ना किया जा सके, लेकिन फिर भी आज के समय में बहुत से लोग Computer और उसके Technology से अनजान है. इसलिए यहाँ पर आज मैं बताने वाला हूँ Computer kya Hai (क्या है)? और आज के समय में यह कितने प्रकार के है. अगर आप Computer Education से जुड़े है तो आपको इसके पता होना चाहिए की Computer Kya hai (क्या है )? क्योकि Computer एक ऐसे चीज़ है, जिसमे अगर आप Interest रखते है तो आप आगे बहुत कुछ कर सकते है.

Computer and it's type

Computer Kya hai (क्या है )? 

Computer एक Electronic & Digital Device है  और यह User के द्वारा दिए गए Input को Process करता है और एक Suitable Output Generate करता है. एक पूरा Computer बहुत से Input, Output और Processing Device से मिल कर बना होता है. जो की Computer को चलाने और User के लिए आसान बनाता है.

कंप्यूटर के कुछ मुख्य पार्ट इस प्रकार है.
  • Input Device: Mouse, Keyboard, Scanner, Joystick etc.
  • Processing Device: CPU (Central Processing Unit), CU (Central Unit) & ALU (Arithmetic Logic Unit).
  • Output Device: Monitor, Printer, etc.

Computer Input Device: 

इनपुट डिवाइस का use कंप्यूटर में इनपुट देने के लिए किया जाता है.  जैसे की आप सभी ने देखा होगा Computer में कुछ Type करने के लिए हम Keyboard का Use करते है और जब हम Keyboard पर कोई बटन Press करते है तो वह हमें Monitor पर दिखता है. ऐसा इसलिए होता है क्योकि Keyboard के इनपुट डिवाइस है और Monitor एक आउटपुट डिवाइस है.

Computer Processing Device:

जब आप Computer पर कुछ Input देते है, तो वह Processing Device के पास जाता है. फिर Processing Device जैसे की CPU , CU & ALU उस Input को Machine language में Convert करते है जिसे Computer पढ़ सके उसके बाद आपके द्वारा दिया गया Input Computer Monitor पर show होता है.

Output Device: 

Output Device का use Computer को दिए गए Input का सही Output दिखाने के लिए होता है. जैसे की अगर आप Keyboard पर कोई Key Press करते है तो वह Monitor वैसे ही Show होता है जैसा आप Input देते है. Output Device के द्वारा ही User को Computer चलाने और Use करने में मदद मिलता है.

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है?


 कंप्यूटर को मुखयतः 3 भागो में बता गया है,
  1. Based On Mechanism (कार्यप्रणाली के आधार पर)
  2. Based On Purpose (उद्देश्य के आधार पर)
  3. Based On Size (अकार के आधार पर )

Based On Mechanism (कार्यप्रणाली के आधार पर):

कार्यप्रणाली के आधार पर कंप्यूटर को तीन भागो में बाटा गया है Analog Computer, Digital Computer और Hybrid Computer.

 Analog Computer:

यह सबसे basic Computer होता है और सबसे पहले इसी तरह के Computer बनाये गए थे. इस Computer की सहायता से Physics Unit जैसे की Pressure, Temperature , Length जैसे चीजों का गणना किया जाता है. अभी भी Analog Computer का Use Science और Engineering के Field में किया जाता है. उदाहरण के लिए पेट्रोल Pump पर लगा Analog Computer, पंप से निकलने वाले तेल का माप लेता है और उस राशि को अपने Database कर लेता है.

Digital Computer:

Digital Computer का मतलब होता है Digit यानि अंक में गणना करने वाला यंत्र, Digital Computer का Use Business के Field में होता है. 

Hybrid Computer:

Hybrid Computer को Analog और Digital दोनों तरह के Computer को मिला कर बनाएगा. Hybrid Computer में दोनों तरह के गुण होते है आप इसे Physics Unit और Business Calculation दोनों काम के लिए कर सकते है.

Based On Purpose (उद्देश्य के आधार पर)

उद्देश्य के आधार पर Computer को दो भाग में बाटा गया है General Purpose Computer, Special Purpose Computer.

General Purpose Computer:

इस तरह के कंप्यूटर का प्रयोग सामान्य काम के लिए होता है और इसके CPU की Capacity भी कम होता है. जैसे की Personal Computer एक जनरल purpose computer है और इसका use Email, Document, Video, Game जैसे काम के लिए होता है.

Special Purpose Computer:

स्पेशल पर्पस कंप्यूटर का Use विशेष कार्यो के लिए किया जाता है और इसकी CPU Capacity बहुत high होता है यह कार्य के अनुरूप होता है. जैसे की मौसम विज्ञान, ब्रमांड विज्ञान, Research & Development जैसे काम के लिए use किया जाता है.

Based On Size (अकार के आधार पर ):
आकार के आधार पर कंप्यूटर को 5 भागो में बाटा गया है. Personal computer,  Main Frame Computer, Mini Computer & Super Computer.

Personal computer:

पर्सनल कंप्यूटर को Desktop Computer भी कहते है और इसका कीमत बहुत काम होता है. जिसे एक व्यक्ति बिना किसी के सहायता के खरीद सकता है. इस कंप्यूटर के कुछ मुख्य पार्ट होते है Mouse, Keyboard, CPU. इसे एक जगह से दुसरे जगह आसानी के साथ ले जाया जा सकता है.

Mini Computer:

मिनी कंप्यूटर साइज़ में पर्सनल कंप्यूटर से थोडा बड़ा होता है और इसका CPU Capacity भी पर्सनल कंप्यूटर की तुलना में थोडा ज्यादा होता है. Mini computer का Use LAN जैसे छोटे Network का Server बनाने के लिए Use होता है.

Main Frame Computer:

इसका Use किसी बड़े आर्गेनाइजेशन जैसे Oracle, TCS के Server के लिए होता है और यह Size में काफी बड़े होते है. इसको एक जगह से दुसरे जगह शिफ्ट करना बहुत मुश्किल है. आज कल हर जगह Database Server के लिए इन्ही का Use किया जाता है क्योकि यह बहुत तीव्रता के साथ गणना करता है. 

Super Computer:

यह सबसे पावरफुल Computer होता है और यह बहुत बड़े आकार के होते है. Super Computer को कोई एक व्यक्ति Personally नहीं खरीद सकता है. भारत में इस समय सबसे फ़ास्ट Super Computer है जिसका नाम है परम और दुनिया का सबसे फ़ास्ट Super Computer China के पास है.

दोस्तों, यहाँ पर बताया गया है की Computer Kya hai (क्या है)? यह कितने प्रकार के होते है? अगर आपको Computer में interest है तो आप कंप्यूटर से जुड़े सभी चीजों के बारे में जानकारी जरुर रखे. और यहाँ पर मैंने केवल कंप्यूटर के basic information के बारे में बताया है.










Comments

Post a Comment

Thanks for Commenting !! Have a nice day ...!