Top 10 Formula for Success (सफलता के 10 मूल मंत्र)


दुनिया के सबसे मशहूर अर्थ शास्त्री चाणक्य ने कहा है " जब तक तुम दौड़ाने का साहस नहीं जुटाओगे 'प्रतिस्पर्धा' में जितना तुम्हारे लिए असंभव बना रहेगा" 

top 10


  1. जो समय बीत गया कभी भी उसके बारे में चिंता ना करे क्योकि वह जीवन में दोबारा वापस नहीं आना वाला है. भविष्य को बेहतर बनाने के हमेशा वर्तमान को बेहतर बनाये.
  2. दिमाग से नकारात्मक सोच और विचार निकाल दे और दूसरो की कमिय ढूडने में अपना समय ना गवाए. हमेशा ऐसे चीज़े सोचे जो दिल को सुकून दे.
  3. हमेशा ऐसा इंसान की बात माने जो आपके बारे में कडवी लेकिन सच्ची बाते करता हो, चापलूस दोस्त से दूर रहे. क्योकि यह दीमक के सामान होते है.
  4. समय बहुत मूल्यवान है इसे ऐसे कामो में ना गवाए जो काम आपके भविष्य के लिए फायदेमंद नहीं है. जिस तरह पैसो कोई हिसाब से खर्च करते है उसी तरह अपने समय को हिसाब से और सही कामो में लगाये.
  5. कोई काम शुरू करने से पहले उसके परिणाम के बारे में कम से कम 10 बार सोचे और उसी अनुसार काम करे. 
  6. अपने दिमाग में कभी भी सामने वाले इंसान के लिए बुरा ना सोचे, क्योकि NEWTON के अनुसार प्रतेक क्रिया का वैसे ही प्रतिक्रिया होता है यानि जैसा आप सामने वाले के बारे में सोचेंगे वैसा सामने वाला आपके बारे में सोचेगा.
  7. अपने पारिवारिक जीवन में हमेशा सच बोले लेकिन अपने व्यावसायिक जीवन में समय और स्थति के अनुसार सही शब्द का इस्तेमाल करे.
  8. अपने काम के प्रति हमेशा इमानदार रहे लेकिन दुसरे के काम के लिए हमेशा अपने दिमाग का इस्तेमाल करे. क्योकि दिमाग से किया गया काम इमानदारी से कही ज्यादा मूल्यवान है.
  9. जीवन में हमेशा बड़ी सोच रखे और उसको पाने की कोशिश करे. क्योकि एग्जाम में 100 नंबर का लक्ष्य रखने वाले ही 95 नंबर पाते है. जिसका लक्ष्य छोटा होगा उसकी सफलता भी उतनी छोटी होगा.
  10. कोई भी व्यक्ति अपने जीवन में अगर इन Top 10 Formula for Success (सफलता के 10 मूल मंत्र) का उपयोग करता है. तो वह जरुर एक दिन बड़ा इंसान बनेगा. 

" अगर आप धनवान नहीं है तो दूसरो के सामने धनवान दिखे, क्योकि तभी आपके मन में धनवान बनाने की चाहत आयेगा"
                                                                                               Bill Gates

                                                                            








Comments